Odisha Train Accident Breaking News : ओडिशा में हुई तीन ट्रेनों की भयंकर टक्कर, 17 डिब्बे पलटे, 288 यात्रियों की मौत, 803 घायल, पढ़ें पूरी अपडेट

Odisha Train Accident Breaking News : ओडिशा ट्रेन दुर्घटना के भीतर घायलों को इलाज के लिए गोपालपुर, कांटापाड़ा, बालासोर, भद्रक और सोरो के अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

तो वहीं ओडिशा के बालासोर जिले में शुक्रवार शाम को हुए दर्दनाक हादसे में 288 लोगों की मौत हो गई है, वहीं, 803 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। दरअसल, कोरोमंडल एक्सप्रेस के कई डिब्बे पटरी से उतरे और फिर वह दूसरी लाइन पर दूसरी लाइन से आ रही ट्रेन से टकरा गई, जिससे भाग्य का यह दुखद मोड़ आ गया। उड़ीसा में हुए इस ट्रेन हादसे की जांच के आदेश दिए गए हैं। दक्षिण पूर्व क्षेत्र के आयुक्त रेलवे सुरक्षा (CRS) एएम चौधरी दुर्घटना पर नजर रखेंगे।

Odisha Train Accident Breaking News

Table of Contents

प्रधानमंत्री मोदी जी ने घटनास्थल का दौरा किया

Odisha Train Accident Breaking News : पीएम मोदी ने शनिवार को घटनास्थल का दौरा किया। इस दौरान पीएम मोदी ने मौके पर चल रहे उपचार कार्य का भी जायजा लिया, इसके बाद पीएम कटक स्थित अस्पताल भी गए जहां ज्यादातर घायलों का इलाज चल रहा है पीएम मोदी ने अस्पताल में घायलों के साथ ही घायलों के इलाज में लगे डॉक्टरों से भी बात की।

CM ममता बनर्जी ने घटनास्थल का किया दौरा

Odisha Train Accident Breaking News : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटनास्थल का दौरा किया। रेल मंत्री के सामने ममता बनर्जी ने कहा कि इस हादसे की गहन जांच होनी चाहिए बंगाल के सीएम ने राज्य के भीतर प्रत्येक प्रभावित परिवार को 5 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की। पश्चिम बंगाल सरकार ने एक सौ दस (110) एंबुलेंस और 40 डॉक्टरों को ओडिशा भेजा है और संबंधित अधिकारियों के साथ सहयोग करना जारी रखेगी।

बालासोर हादसा : दोनों ट्रेनों में करीब 3500 यात्री सवार थे।

कोरोमंडल एक्सप्रेस की सीट संरचना: 1256 500 (जनरल बोगी) = 1756

स्लीपर (पांच कोच) = 80x पांच

थर्ड एसी (नौ कोच) = 72x नौ

सेकंड एसी (2 कोच) = 52x 2

फर्स्ट एसी (1 कोच) = 24x 1

सामान्य बोगी (2 कोच) = 250x 2

विश्वेश्वरैया हावड़ा एक्सप्रेस: ​​1244 500 (जनरल बोगी) = 1744

स्लीपर (7 कोच) = 80×7

थर्ड एसी (आठ कोच) = 72x आठ

सेकंड एसी (2 कोच) = 52x 2

सामान्य बोगी (2 कोच) = 250x 2

बचाव कार्य अब भी जारी है

हादसे में घायलों को इलाज के लिए गोपालपुर, कांटापाड़ा, बालासोर, भद्रक और सोरो के अस्पतालों में भर्ती कराया गया। जानकारी के मुताबिक राहत और बचाव का काम जारी है पटरी से उतरे डिब्बों में कई लोग फंस गए थे और क्षेत्र के लोगों ने उनकी मदद की थी। आपात सेवा के कर्मचारी बचाव में सहयोग कर रहे थे, लेकिन अंधेरे के कारण अभियान बाधित हो गया। मुख्य सचिव प्रदीप जेना के मुताबिक, NDRF की 7 यूनिट, ODRAF की 5 यूनिट और फायर सर्विस की 24 यूनिट, स्थानीय पुलिस, वालंटियर्स तलाश और बचाव में कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

उच्च स्तरीय समिति हादसे की जांच करेगी

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि कोशिश सीधे घायलों के इलाज की है। साथ ही कहा कि एक उच्च स्तरीय समिति घटनास्थल के इस भयानक दुर्घटना को देखेगी और सीआरएस यह पता लगाने के लिए एक निष्पक्ष शोध भी कर सकती है कि इस दुर्घटना के होने का मुख्य कारण क्या है। अभी मुख्य बिंदु केबल बचाव कार्य पर है। इस दुर्घटना का मुख्य कारण क्या है और यह दुर्घटना कैसे हुई, इसे शोध के बाद ही बताना संभव होगा।

इस हादसे से रेल के कई ट्रेनों को प्रभावित किया

इस दिशा से गुजरने वाली लगभग 92 अलग-अलग ट्रेनों को त्रस्त कर दिया गया था। परिणामस्वरूप 43 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं। वहीं 38 ट्रेनों का डायरेक्शन डायवर्जन किया गया है। जबकि नौ ट्रेनों को टर्मिनेट किया गया। इसके अलावा, एक ट्रेन कोरी शेड्यूल किया गया है।

सरकार ने मुआवजा देने की घोषणा की

इसके साथ ही रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ओडिशा में घटना को लेकर मुआवजा देने की घोषणा की है, वैष्णव ने ट्वीट किया है- ओडिशा में इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से मरने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को 10 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायल को 2 लाख रुपए और मामूली रूप से घायलों को 1 लाख और 50 हजार रुपये दिए जाएंगे, इसके साथ ही पीएम मोदी ने मृतकों के परिजनों के पालन-पोषण के लिए 2-2 लाख रुपये और घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये की मदद की घोषणा की।

ओडिशा के मुख्यमंत्री ने राज्य में शोक की घोषणा की

इस रेल हादसे के बाद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य स्थापना दिवस समारोह को रद्द कर दिया और एक दिन में ही राज्य शोक का ऐलान किया पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी आज एक रेल दुर्घटना को लेकर ओडिशा का दौरा करेंगी। रेलवे के खड़गपुर मंडल के डीआरएम के मुताबिक ट्रेन संयोग के बाद कम से कम 13 ट्रेनों को डायवर्ट या कैंसिल किया गया।

मुंबई-गोवा वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन करना पड़ा रद्द

शनिवार सुबह होने वाली मुंबई-गोवा वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन समारोह ओडिशा में भाग्य के मोड़ के कारण रद्द कर दिया गया है। पीएम मोदी मुंबई-गोवा वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन को हरी झंडी दिखाने वाले थे, सुबह 10:30 बजे।

बीएमसी की टीम भी पहुंची मदद करने

बीएमसी की टीम भी लोगों की मदद में लगी हुई है। भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन के ट्रेन यात्रियों को जो होटल/मोटल के लिए पैसा नहीं दे सकते उन्हें बीएमसी के एसयूएच में शरण दी जा रही है।

जान बचाने में जुटे स्थानीय लोग, रक्तदान करने के लिए लगी लंबी लाइन

इस दर्दनाक हादसे के कई पीड़ितों का अस्पताल में इलाज चल रहा है, ऐसे में आसपास के लोग रक्तदान करने पहुंचे हैं, नतीजतन रक्तदाताओं की लंबी कतार लग गई।

शव परिजनों को सौंपे जा रहे हैं

ओडिशा के मुख्य सचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि चिन्हित शवों को उनके परिजनों को सौंपा जा रहा है, अज्ञात व्यक्तियों के लिए वैधानिक प्रक्रिया अपनाई जा सकती है।

इस रेल दुर्घटना को देखते हुए ओडिशा सरकार और रेलवे ने एक हेल्पलाइन शुरू की है।

रेलवे ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर-

हेल्प लाइन नंबर- 033 26382217, 8972073925, 9332392339, 8249591559, 7978418322, 9903370746,044-044- 25330952, 044-25330953, 044-2533095 3, 044- 253547771।

sarkarinewsportal home page

Shri

Hello guys i am senior content writer on sarkarinewsportal.in I am currently persuing b.com from Lucknow university and i am proffessional content writer. I used to write articles in hindi from last 7 years

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *