Petrol-Diesel Price: लोगों के लिये आई राहत भरी ख़बर, पेट्रोल-डीजल की ब‍िक्री में हो गई है भारी कमी, क्‍या अब कम हो जाएँगी रेट्स?

Petrol-Diesel Price: वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमत गिर रही है। हालांकि, पेट्रोल और डीजल की कीमत एक साल से अधिक समय से स्थिर है। अब पेट्रोल-डीजल की खपत कम हो रही है। जून की शुरुआत में, मानसून के मौसम के परिणामस्वरूप दोनों ईंधनों की बिक्री में कमी आई, जिससे यातायात में गिरावट आई और कृषि के लिए डीजल और पेट्रोल की आवश्यकता हुई। जून के पहले दो हफ्तों में, देश में सबसे लोकप्रिय ईंधन, डीजल की मांग साल दर साल 6.7% गिरकर 3.43 मीटर रह गई

Petrol-Diesel Price

5.7 प्रतिशत की गिरावट

Petrol-Diesel Price: इससे पहले, कृषि क्षेत्र से अधिक मांग के कारण अप्रैल में डीजल की बिक्री में 6.7 प्रतिशत और मई में 9.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। जून के पहले दो हफ्तों में डीजल की मासिक बिक्री में 3.4 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 1 मई से 15 मई तक 33.1 लाख टन डीजल की बिक्री हुई। 1 जून से 15 जून तक पेट्रोल की बिक्री साल दर साल 5.7% गिरकर 13 लाख टन रही। मासिक आधार पर इसकी बिक्री 3.8% की रफ्तार से घटी। डब्ल्यूटीआई क्रूड सोमवार सुबह फिसलकर 71.03 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया, जबकि ब्रेंट क्रूड 75.64 डॉलर प्रति बैरल पर देखा गया।

Petrol-Diesel Price Today: लोगों की जेब पर बढ़ गया बोझ, पेट्रोल-डीज़ल फिर से हुआ महंगा, आज से बढ़ गई कीमतें

Petrol-Diesel Price Today: गैस स‍िलेंडर हुआ सस्‍ता, आज पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी; अब इतना हो गया है रेट

Petrol-Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल के रेट में फिर हुए बदलाव, जाने आज की ताजा पेट्रोल की कीमत

Petrol Diesel Price: पेट्रोल- डीजल की रेट फिर हुई ज्यादा इन शहरों में एक साल के बाद

मार्च से बढ़ी कृषि गतिविधियां

मार्च के दूसरे पखवाड़े में औद्योगिक और कृषि गतिविधियों में बढ़ोतरी देखी गई, जिससे पेट्रोल और डीजल की बिक्री में बढ़ोतरी हुई। हालांकि, मानसून के आगमन से तापमान में कमी आई है, और जून के पहले दो हफ्तों में खेतों की सिंचाई के लिए डीजल जेनसेट के उपयोग और ट्रैक्टर-ट्रकों द्वारा उनकी खपत में कमी के परिणामस्वरूप डीजल की बिक्री में कमी आई है। 1 जून से 15 जून तक, जून 2021 की COVID-19 महामारी और 44 की तुलना में पेट्रोल की खपत में 14.6% की वृद्धि हुई।

जून 2019 के पहले दो हफ्तों की तुलना में डीजल के उपयोग में 8.8% और 1 से 15 जून, 2021 की तुलना में 38% की वृद्धि हुई। भारतीय हवाई अड्डों पर हवाई यातायात की मात्रा पूर्व-कोविद स्तर के करीब पहुंच गई है क्योंकि विमानन उद्योग सक्रिय है। आंकड़े बताते हैं कि जून के पहले दो हफ्तों में एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) की मांग साल दर साल 2.6% बढ़कर 2,90,000 टन हो गई। यह 1-15 जून, 2019 की तुलना में 6.8 प्रतिशत कम है, लेकिन 1-15 जून, 2021 के आंकड़ों से 148 प्रतिशत अधिक है।

sarkarinewsportal Home page

Kirti Singh

I am Kirti. I am Junior content writer working with Sarkarinewsportal.in. i am working in this from last 7 years i have lot of experince in this field

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *